गुणवान पुत्र ! बच्चो की कहानियां ! Hindi Short Story With Moral

bachcho ki kahani, baccho ki kahaniya, bacho ki kahani, bacho ki kahaniya, baccho ki kahani hindi mai, baccho ki kahani baccho ki kahani, baccho ki kahani hindi, baccho ki kahani sunaiye, baccho ki kahani in hindi, bacho ki kahani hindi, baccho ki kahani suno. bachcho ki kahani in hindi,

  गुणवान पुत्र एक शहर में एक गरीब आदमी रहता था। दिन भर वह सख्त मजदूरी करता था। उसके एक पुत्र था। उसने अपने पुत्र को खूब पढ़ाया। उसकी शादी की और अच्छे स्थान पर उसकी नौकरी लगा दी। समय गुजरता गया लड़के ने खूब धन कमाया। उसने एक बड़ा मकान खरीद । लेकिन उसने … Read more गुणवान पुत्र ! बच्चो की कहानियां ! Hindi Short Story With Moral

कौआ और लोमड़ी की दोस्ती

कौआ और लोमड़ी की दोस्ती एक घने जंगल मे एक कौआ और लोमड़ी रहती थी । दोनो में गहरी दोसती थी। वे दोनों जहा भी जाते थे साथ जाते थे । वे जो खाते थे वे साथ मे कहते थे इतना ही नही कौआ को अगर कोई अच्छी चीझ मिलती थी। तो वह लेकर आता … Read more कौआ और लोमड़ी की दोस्ती

म्यान का रंग

म्यान का रंग दो राजा थे। खरख सिंह और कर्क सिंह दोनो में पुरानी दुश्मनी थी। बात बात पर दोनों की तलवारे एक दूसरे पर तन जाती थी। लेकिन दोनों रजयो की दुश्मनी नही पता थी। इस लिए निभाना जरूरी था। दोनो रजयो के सेना और मंत्री इन बेवजह के झगड़े से परेशान हो गये … Read more म्यान का रंग

मैं पक्षी नही,मैं चुहा भी नही

मैं पक्षी नही,मैं चुहा भी नही एक चमगादड़ था। एक पेड़ की डाली पेर वह उल्टा लटका रहता। एक दिन वह थका हुआ था, इसलिए डाल से छूटकर नीचे गिर गया। पेड़ के नीचे एक नेवले का बिल था। चमगादड़ के गिरने की आवाज सुनकर नेवला बिल से बाहर निकल उसने झपटकर चमगादड़ को पकड़ … Read more मैं पक्षी नही,मैं चुहा भी नही

एक रानी थी

एक रानी थी। वह रोटी बनक रही थी। रोटी फूलने के लिए जिसे कपड़ा उठाया वैसे ही रोटी भाग गई । और बोली मुझे पकड़ो तो जनु। रोटी बहुत दूर चली गई । रास्ते मे उसे एक शेर मिला । रोटी बोली शेर भीई ,शेरनी भाई तू मुझे नही खाओगे। खाली शहद ही पीते रहोगे। … Read more एक रानी थी

शौतन मेढ़क

शौतन मेढ़क एक गांव में एक तोता और एक मेढ़क रहते थे दोनो दोस्त थे एक दिन मेढ़क को रोटी खाने का मन किया। मेढ़क तोता से बोला तुम कहि से आटा लेआदो मैं रोटी बनुगा। और दोनों मिलकर खायेंगे । तोता आटा लिया मेढ़क ने आये का एक रोटी बनाई। जब तोता ने रोटी … Read more शौतन मेढ़क

Gyan Bhari Kahaniyan ! अंगों की कहानी

अंगों की कहानी एक बार सभी अंग आपस मे बात कर रहे थे। मुह बोलै जरा देखो तो मैं कितना काम करता हूं। मै बात करता हु। कहना भी खाने में मदत करता हु। इतना सुन हाथ ने बोला खूब। अरे मैं भी तो बहुत कम करता हु। मै भी खाना खाने में मदद करता … Read more Gyan Bhari Kahaniyan ! अंगों की कहानी

Best Moral Story ! चतुर सेवक

चतुर सेवक एक गांव था जिस गांव का नाम श्यामपुर था । उस गांव में एक किसान रहता था। वह अपने नोकर के साथ रहता था। एक दिन किसान को दो आम मिला वह आम लेकर घर आ रहा था। रास्ते मे उसे एक साधु बाबा मिले । किसान साधु बाबा को गौर लगकर बोलै … Read more Best Moral Story ! चतुर सेवक

Moral Story ! लालच का फल

लालच का फल एक गांव में दो बहन थी। एक का नाम दुखिया और दूसरे के नाम सुखिया । दुखिया और सुखिया की शादी हो गई । दुखिया के शादी एक छोटे परिवार में हुआ जब कि सुखिया के शादी एक ऊँचे परिवार में हुआ । एक दिन दुखिया किसी कारणवश अपनी बहन के घर … Read more Moral Story ! लालच का फल